केंद्र से शिक्षकों को बड़ी राहतः अब सिर्फ एक बार पास करनी होगी टैट पात्रता परीक्षा

नई दिल्ली/शिमला। शिक्षक बनने की तैयारी में जुटे प्रदेश के लाखों उम्मीदवारों को केंद्र सरकार ने बड़ी राहत दे दी है। अब एक बार पास हुई अध्यापक पात्रता परीक्षा उम्र भर के लिए मान्य रहेगी। नेशनल काउंसिल फॉर टीचर एजूकेशन ने शिक्षक पात्रता परीक्षा में बड़ा बदलाव कर दिया है। अभी तक सात वर्ष के लिए ही टेट पास उम्मीदवार नौकरी के लिए पात्र थे। केंद्र सरकार से मिली छूट के बाद अब बार-बार टेट पास नहीं करना पड़ेगा। केंद्र सरकार ने शिक्षक पात्रता परीक्षा (टेट) को उम्रभर के लिए मान्य कर दिया है।

Teachers get relief from center, will have to pass TAT eligibility test only once in life

New Delhi Shimla The Central Government has given great relief to lakhs of candidates of the state who are preparing to become teachers. Now once passed, the teacher eligibility test will be valid for life. The National Council for Teacher Education has made a big change in the teacher eligibility test. Till now only the Tate Pass candidates were eligible for the job for seven years. After the exemption from the central government, there will no longer have to pass the TET. The Central Government has approved the Teacher Eligibility Test (TAT) for life.

अब तक टेट पास करने पर उम्मीदवार सात वर्ष तक नौकरी के लिए पात्र होता था। इसके बाद उसे शिक्षक बनने के लिए दोबारा परीक्षा देनी पड़ती थी।

एनसीटीई द्वारा नियमों में किया गया बदलाव केंद्र के साथ ही राज्यों भी लागू होगा।

केंद्र और राज्य एनसीटीई नियमों से टेट करवाते हैं।

केंद्र सरकार के लिए सीबीएसई और राज्य अपनी परीक्षा खुद करवाते हैं।

नेशनल काउंसिल फॉर टीचर एजूकेशन (एनसीटीई) की पिछले दिनों हुई बैठक में टेट के नियमों में बदलाव को मंजूरी दी गई।

सरकारी स्कूलों में शिक्षक बनने के लिए टेट पास करना अनिवार्य है। अब तक एक बार परीक्षा पास करने से सर्टिफिकेट के आधार पर सात साल के अंदर सरकारी नौकरी के लिए आवेदन कर सकते थे।

अब नए नियम के तहत एक बार परीक्षा पास करने पर उम्रभर के लिए पात्रता मिलेगी।

सरकार के इस फैसले का सबसे अधिक लाभ महिलाओं को होगा। दरअसल, शादी और बच्चों के चलते वे नौकरी छोड़ देती थीं। अब दोबारा आसानी से नौकरी पा सकेंगी।

नई शिक्षा नीति के लागू होते ही शिक्षक बनने के लिए टेट पास करना सभी के लिए अनिवार्य हो जाएगा।

केंद्र सरकार ने नई शिक्षा नीति में यह प्रावधान किया है।

स्कूलों में शिक्षक बनने के लिए सिर्फ टेट पास ही आवेदन कर सकेंगे।

 

Related posts

Leave a Comment