भारत का जासूस सैटेलाइट तिब्बत से गुजरा, चीन की सैन्य मोर्चेबंदी का हुआ खुलासा

नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच जारी सीमा विवाद के बीच रविवार को जब भारत का एक जासूस सैटेलाइट तिब्बत के ऊपर से गुजरा। तो चीन की हालत खराब हो गयी। सैटेलाइट चीन के कब्जे वाले तिब्बत के ऊपर से गुजरा था। इसके बाद चीन ने वास्तविक नियंत्रण रेखा पर अपनी सेना जुटानी शुरू कर दी। बताया जा रहा है कि इस सैटेलाइट ने अच्छी खासी जानकारी जुटाई है। इसके बाद चीन में हड़कंप मच गया है।

India’s spy satellite passes through Tibet, China’s military entrenchment revealed

New Delhi. On Sunday, a spy satellite of India passed over Tibet amidst the ongoing border dispute between India and China. So China’s condition worsened. The satellite passed over China’s occupied Tibet. After this, China started mobilizing its forces along the Line of Actual Control. It is being told that this satellite has gathered a lot of information. After this there has been a stir in China.

एक आधिकारिक सूत्र ने बताया कि यह भारत का जासूस सैटेलाइट हाल ही में अरुणाचल प्रदेश के पास स्थित तिब्बत के उस हिस्से के ऊपर से गुजरा है, जो चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी के कब्जे में है।
इलेक्ट्रॉनिक इंटेलिजेंस सिस्टम कौटिल्य से लैस यह सैटेलाइट दुश्मनों के रेडियो सिग्नल का आसानी से पढ़ लेता है। इसे इसरो ने बनाया है।
आपको बता दें कि पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में पिछले दिनों हुई हिंसक झड़प में भारत के 20 वीर जवान शहीद हो गये थे।
इस झड़प में चीनी आर्मी के जवान भी काफी संख्या में मारे गये थे, लेकिन चीन ने इसका खुलासा नहीं किया।
इस घटना के बाद से दोनों देशों के बीच विवाद चरम पर है। अब सैटेलाइट के गुजरने से चीन पूरी तरह बौखला गया है.
दोनों देशों के बीच सीमा विवाद को सुलझाने के लिए कई कमांडर स्तर की वार्ताएं हो चुकी हैं।
चीन एलएसी के पास से अपनी सेना को हटाने पर सहमत भी है। अग्रिम चौकियों से चीन से सेना को पीछे भी ले लिया है।
वहीं, भारत ने भी चीन पर नकेल कसने की पूरी तैयारी कर ली है। केंद्र सरकार ने इंमरजेंसी पावर का इस्तेमाल कर फ्रास से हैमर मिसाइलें भी मंगवाई हैं।
सैटेलाइट एमिसेट को भारत के डिफेंस रिसर्च एंड डिवेलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन ने बनाया है।
अभी हाल ही में एलएसी पर निगरानी के लिए डीआरडीओ ने सेना को एक छोटा और बेहर शक्तिशाली भारत नाम का एक ड्रोन सौंपा है।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, चीन ने डेप्सांग सेक्टर में भी अपने सैनिक जुटाये हैं। चीनी सैनिकों को एलएसी के पास गड्डा खोदते देखा गया है।
सैटेलाइट एमिसेट बॉर्डर पर पाकिस्तान की गतिविधियों पर भी नजर रखता है। एलओसी पर पाकिस्तान की ओर से लगातार घुसपैठ का प्रयास किया जाता है।
सरहद पार से आतंकवादियों को भारत में भेजा जाता हैं। इसी सैटेलाइट के द्वारा जुटाये गये डेटा के माध्यम से भारतीय सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक कर पाकिस्तान में आतंकियों का सफाया किया था।

Related posts

Leave a Comment