पाकी आतंकी लांचपैड तबाह करने को भारत ने की पिन-प्वाइंट स्ट्राइक

नई दिल्ली। कड़ाके की सर्दी पड़ने से पहले भारत में अधिकतम आतंकियों की घुसपैठ कराने की पाकिस्तानी सेना की कोशिशों के जवाब में भारतीय सेना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में संदिग्ध आतंकी ठिकानों पर श्सटीक लक्षित हमलेश् ;पिन प्वाइंट स्ट्राइकद्ध कर रही है।

India strikes pinpoint to destroy Paki terrorist launchpad

New Delhi. In response to the Pakistani Army’s attempts to infiltrate maximum militants into India before the bitter winter, the Indian Army is carrying out pin-targeted strikes on suspected terrorist targets in Pakistan-occupied Kashmir (POK).
Sources associated with the security establishment gave this information.

सुरक्षा प्रतिष्ठान से जुड़े सूत्रों ने यह जानकारी दी।

हालांकि सरकार का कहना है कि इस तरह की स्ट्राइक आज नहीं की गई है।

सरकारी सूत्रों के मुताबिक न्यूज एजेंसी पीटीआई की ये स्टोरी 13 नवंबर के पाकिस्तान की तरफ से संघर्ष विराम उल्लंघन के विश्लेषण पर आधारित है। यह स्पष्ट किया जाता है कि नियंत्रण रेखा पर आज किसी प्रकार की कोई फायरिंग नहीं हुई है।

गौरतलब है कि 13 नवंबर को पाकिस्तान की तरफ से जारी लगातार संघर्ष विराम उल्लंघन का भारत ने जवाब दिया था और पाकिस्तान के कई बंकर उड़ा दिए थे। उसके कई वीडियो भी सामने आए थे।

पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान में ष्डीप स्टेटष् ;पर्दे के पीछे छद्म रूप से काम करने वाली सरकारी शक्तियांद्ध ने आतंकवाद रोधी निगरानीकर्ता थ्।ज्थ् की निगरानी से बचने और उसके साथ ही जम्मू कश्मीर में अशांति को हवा देने के लिए आतंकवादियों की मदद के उद्देश्य से संतुलन साधने की कोशिश की है।

संघर्ष विराम उल्लंघन का जवाब

सूत्रों ने कहा कि बीते कुछ हफ्तों में जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों की घुसपैठ कराने में मदद के उद्देश्य से पाकिस्तानी सेना नियंत्रण रेखा पर भारत की तरफ के असैन्य क्षेत्रों को लगातार मोर्टार और अन्य भारी हथियारों से निशाना बना रही है।

आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिकए 2019 में जहां पूरे साल में 18 नागरिक पाकिस्तान की गोलाबारी में मारे गए थेए वहीं इस साल अब तक 21 निर्दोष असैनिक नागरिकों की जान पाकिस्तान की गोलाबारी में जा चुकी है।

 

 

सूत्रों ने कहा कि भारतीय सेना द्वारा आतंकवादियों ;अधिकतर पाकिस्तानी और विदेशीद्ध को नाकाम करने के लिए खुफिया सूचना आधारित लक्षित हमले किए जा रहे हैं और इन अभियानों में अपनी तरफ नुकसान की गुंजाइश बेहद नगण्य रहती है।

उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर में अशांति श्भड़कानेश् और युवाओं को हथियार मुहैया कराने के लिए पाकिस्तान द्वारा नया तरीका अपनाया जा रहा है जिससे बढ़ते अंतरराष्ट्रीय दवाब के बीच किसी तरह की निगरानी से बचा जा सके।

सूत्रों ने कहा कि पाकिस्तान पर अपनी जमीन पर सक्रिय आतंकवादी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर भी अंतरराष्ट्रीय दबाव है।

उन्होंने कहाए श्नागरिकों को खास तौर पर निशाना बनाने की पाकिस्तानी सेना की कार्रवाई का जवाब भारतीय सेना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में संदिग्ध आतंकी लॉन्च पैड पर लक्षित हमले करके दे रही है।श्

सूत्रों ने कहा कि पाकिस्तान सहानुभूति बटोरने और अंतरराष्ट्रीय दानदाताओं से सहायता हासिल करने के उद्देश्य से वहां हो रही आतंकवादियों की मौत को नागरिकों की मौत के तौर पर दिखा रहा है।

Related posts

Leave a Comment