हरियाणाः एएसआई आरोपी से रिश्वत मांग रहा था, बर्खास्त

कैथल। हरियाणा के जिला कैथल के एसपी शशांक कुमार सावन ने भ्रष्टाचार पर कार्रवाई करते हुए चीका थाना के एएसआई रमेश को बर्खास्त किया है। एएसआई रमेश महिला को जहर देकर हत्या का प्रयास करने के मामले में आरोपी पक्ष से बार-बार रिश्वत की मांग कर रहा था।

Haryana: ASI was seeking bribe from the accused, sacked

Kaithal. Shashank Kumar Sawan, SP, District Kaithal, Haryana, has taken action against corruption and dismissed ASI Ramesh of Cheeka police station. ASI Ramesh was repeatedly seeking bribe from the accused party for attempting to murder by poisoning the woman.

बताया जा रहा है कि केस रद्द होने के बावजूद एएसआई रमेश आरोपी पक्ष को धमकी देता था।

परेशान हुए व्यक्ति ने एएसआई द्वारा रिश्वत मांगने की शिकायत एसपी को दी।

एसपी ने मामले में आरोपी को सस्पेंड करके जांच शुरू करवाई, लेकिन एएसआई रमेश ने शिकायतकर्ता को ही धमकी देनी शुरू कर दी।

इसके बाद एसपी ने अपने विशेष शक्तियों का प्रयोग करते हुए एएसआई रमेश को नौकरी से बर्खास्त कर दिया।

आरोप है कि एएसआई ने आरोपी पक्ष से कहा कि वह केस रद्द करवा देगा, जिसकी एवज में रुपए मांगे गए।

आरोपित पक्ष इस बात से अनजान था कि केस पहले ही कैंसिल हो चुका है।

इसके बावजुद एक बार 70 हजार, फिर 60 हजार व उसके बाद 50 हजार रुपए रिश्वत के तौर पर मांगे गए।

परेशान होकर हत्या का प्रयास मामले में आरोपित व्यक्ति ने रिश्वत मांगने की कॉल रिकॉर्डिंग एसपी को दी।

एसपी ने कार्रवाई करते हुए एएसआई रमेश को सस्पेंड कर दिया था। सस्पेंड होने के बाद एएसआई शिकायतकर्ता को धमकाने लगा।

इसलिए एसपी शशांक कुमार सावन ने संविधान के अनुच्छेद 311(2) (बी) तथा पंजाब पुलिस नियम 16.2 में निहित शक्तियों का प्रयोग करते हुए एएसआई रमेश को पुलिस विभाग से तत्काल प्रभाव से बर्खास्त कर दिया।

चीका थाना के तहत आने वाले गांव थेह नेवल की महिला ने 16 जुलाई 2020 को अपने जेठ व दो व्यक्तियों के खिलाफ जहर देकर हत्या के प्रयास का केस दर्ज करवाया था। शिकायत में आरोप था कि उसके पति को मौत हो चुकी है।

पति की मौत के बाद जेठ जमीन के बंटवारे को लेकर रंजिश रखता है।

वह मारपीट और गाली गलौज करता रहता है।

इस संबंध में दोनों पक्ष कई शिकायतें थाना में दे चुके हैं। जेठ ने अपनी खुद की जमीन जो हमारे घर के नजदीक लगती है, गांव के ही व्यक्ति को बेच रखी है। उनकी जमीन का आधा कीला सड़क से लगता है।

महिला का आरोप है कि उसने अपनी जमीन ठेके पर दी हुई है, जिसमें 15 जुलाई को प्रवासी मजदूर धान लगा रहे थे और वह घर पर थी। दोपहर 12.30 बजे उसका जेठ, जमीन खरीदने वाला व्यक्ति व जमीन खरीदने वाले व्यक्ति का पिता खेत में आए। मजदूरों को धान लगाने से रोका।

विरोध किया, तो अपने हाथ में ली जहर की बोतल से जबरदस्ती जहर पिला दिया। पुलिस ने मामले में आईपीसी की धारा 307 हत्या का प्रयास, 328 जहर देना, 34 एक समान आशय के तहत केस दर्ज किया था। मामले की जांच एएसआई रमेश को सौंपी गई थी।

इस पूरे मामले में एसपी शशांक कुमार सावन ने कहा कि रिश्वत मांगने के मामले में सस्पेंड चल रहे एएसआई रमेश को बर्खास्त कर दिया है। भ्रष्टाचार की शिकायत देने वाले को भी रमेश धमकी दे रहा था। विभाग में किसी प्रकार का भ्रष्टाचार सहन नहीं किया जाएगा। कोई अपराध करेगा, तो सख्त कार्रवाई होगी, चाहे वह पुलिस विभाग से हो या कोई अन्य हो।

Related posts

Leave a Comment