फरीदाबाद की श्री कृष्णा सहकारी ग्रुप हाउसिंग सोसायटी में 10 करोड़ का घोटाला करने वाले 5 पर एफआईआर दर्ज

फरीदाबाद। सहकारी ग्रुप हाउसिंग सोसायटी में लोगों के करोड़ों रुपए हड़पने  के मामले में विभागीय शिकायत पर पुलिस ने 5 लोगों के खिलाफ षड्यंत्र के तहत  धोखाधड़ी कर करोड़ों रुपए हड़पने का मामला दर्ज किया है। सेक्टर 11 स्थित श्री कृष्णा सहकारी ग्रुप हाउसिंग समिति लिमिटेड के सदस्यों की शिकायत के बाद की गई जांच में इस मामले का खुलासा हुआ और विभागीय जांच में आरोप सही पाए जाने के उपरांत एनआईटी पुलिस थाना में केस दर्ज कराया गया है।

FIR registered on 5 for scams of 10 crores in Faridabad’s Sri Krishna Co-operative Group Housing Society

Faridabad. On a departmental complaint in connection with the grab of crores of people in the Co-operative Group Housing Society, the police have registered a case against 5 people for conspiracy to fraudulently grab crores of rupees. The case was revealed in the investigation conducted after a complaint by members of Shri Krishna Cooperative Group Housing Society Limited, located in Sector 11, and a case has been registered in the NIT police station after the departmental inquiry found the allegations to be true.

नरेंद्र कुमार सहायक रजिस्ट्रार सहकारी समितियां फरीदाबाद ने बताया कि श्री कृष्णा सहकारी ग्रुप हाउसिंग समिति लिमिटेड के सदस्यों की शिकायतें मिल रही थी कि समिति के पदाधिकारियों ने उनसे बिल्डिंग बनाने के लिए करोड़ों रुपए लिए है, लेकिन कुछ कार्य नहीं किया और किसी प्रकार का कोई हिसाब भी नहीं दे रहे हैं।

शिकायत मिलने पर उन्होंने निरीक्षक सहकारी समितियां राजपाल शर्मा को मामले की जांच करने के आदेश दिए।

जांच के दौरान श्री कृष्णा सहकारी ग्रुप हाउसिंग समिति मे स्पष्ट तौर से सेक्टर 21 निवासी कमेटी के पूर्व प्रधान केशव अग्रवाल, पूर्व उप प्रधान सुधीर शर्मा और पूर्व खजांची देवेंद्र अग्रवाल के अलावा एनएच 5 फ्रूट गार्डन निवासी पूर्व कमेटी सदस्य शैलेंद्र शर्मा और विजय कुमार कौशिक ने लोगों के साथ धोखाधड़ी कर 10 करोड़ 45 लाख 45 हजार 793 रुपे का गबन किया है। आरोपी किसी भी प्रकार का कोई स्पष्टीकरण नहीं दे सके यहां तक की स्पष्टीकरण देने के लिए के लिए बार-बार नोटिस के उपरांत भी पेश नहीं हुए।

जांच के उपरांत विभागीय स्तर पर कार्यवाही के लिए डिप्टी रजिस्ट्रार सतीश रोहिल्ला गुरुग्राम के पास जांच रिपोर्ट भेजी गई।

जांच रिपोर्ट के आधार पर उन्होंने आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कराने के आदेश किए।

शिकायत के आधार पर  पुलिस थाना एनआईटी ने केस दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी है।

सहायक रजिस्ट्रार सहकारी समितियां फरीदाबाद कार्यालय की सक्रियता के कारण इस मामले का खुलासा हो पाया है ।

इसके अलावा अन्य कई शिकायतों की भी कार्यालय द्वारा जांच की जा रही हैं। सहायक रजिस्ट्रार नरेंद्र कुमार ने कहा कि सहकारी समितियों में किसी प्रकार की कोई लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी और नियमों के तहत कार्य न करने वाले लोगों के खिलाफ खिलाफ सख्त कार्यवाही की जा रही है।

Related posts

Leave a Comment