किसान नेता ऋषिपाल अम्बावता को किया नजरबंद

फरीदाबाद। भारतीय किसान यूनियन (भाकियू अ) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ऋषिपाल अम्बावता को दिल्ली पुलिस ने दिल्ली के राजघाट पहुंचने से पहले ही उनके फार्म हाउस पर नजर बंद कर दिया। फरीदाबाद पुलिस ने भी उनके सेक्टर 19 स्थित घर को पुलिस छावनी में तबदील कर दिया और घर मेें मौजूद उनके परिवार वालों को नजरबंद कर दिया। पुलिस ने गली में लगे लोहे के गेेट को बंद कर दिया। इससे सेक्टर में रहने वाले लोगों को बहुत परेशानी उठानी पड़ी।

Farmer leader Rishipal Ambavata under house arrest

Faridabad. Rishipal Ambavata, the national president of the Bharatiya Kisan Union (BKU A), was stopped by Delhi Police before his arrival at Rajghat in Delhi. The Faridabad police also shifted his house located in Sector 19 to the police cantonment and put his family members under house arrest. Police locked an iron gait in the street. This caused a lot of trouble to the people living in the sector.

अम्बावता ने कहा कि पुलिस ने यह कदम इसलिए उठाया है, क्योंकि भारतीय किसान यूनियन ने सितम्बर माह में केन्द्र सरकार द्वारा लाए गए तीन अध्यादेशों के खिलाफ विरोध जताया था उन्होंने घोषणा की थी कि 2 अक्टूबर को पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के जन्म दिवस पर दिल्ली का चक्का जाम कर देंगे।

उन्होंने कहा था कि देश के सच्चे जन प्रिय नेता शास्त्री जी के जन्म दिवस से पूरे देश में भाजपा सरकार की हिटलर शाही के खिलाफ राष्ट्रव्यापी किसान आंदोलन शुरू कर दिए जाएंगे। ताकि सरकार द्वारा किसान की मौत बनकर लाए जा रहे इन अध्यादेशों को सरकार वापिस लेने पर मजबूर हो जाए।

उन्होंने कहा कि आज 2 अक्टूबर कि दिन दिल्ली राजघाट स्थित लाल बहादुर शास्त्री की समाधी स्थल के पास पार्क में भाकियू द्वारा किसान महासभा का आयोजन किया जाना था। इस महासभा में पूरे देश से भारतीय किसान यूनियन से जुडे हजारों किसानों के पहुंचने की योजना थी। इससे भाजपा सरकार की कारगुजारियों की पोल खुल जाती, इसलिए भाकियू से डरकर सरकार ने यह कदम उठाया है।

अम्बावता ने कहा कि वह सरकार द्वारा उनको नजरबंद कराए जाने के कुकृत्य की निंदा करते हैं।

उन्होंने कहा कि आखिर कब तक पुलिस उनको घर में नजरबंद रखेगी।

उन्होंने कहा कि भाकियू के कार्यकर्ता पूरे देश में हैं। देश के 12 राज्यों के किसान उनके संगठन से जुडे़ हैं और जल्द पुलिस ने उनके ऊपर लगाई नजरबंदी नहीं हटाई, तो देश में भाजपा के विरोध में किसान सडकों पर उतर आएंगे।

उन्होंने कहा भाजपा के इन अध्यादेशों को भारतीय किसान यूनियन (अ) किसी कीमत पर लागू नहीं होने देगी।

 

Related posts

One Thought to “किसान नेता ऋषिपाल अम्बावता को किया नजरबंद”

  1. HINT न्यूज़ बहुत बढ़िया कार्य कर रहा है हमेशा जनहित मुद्दों के साथ आगे बढ़ते रहना

Leave a Comment