हरियाणा में बिजली हुई और महंगी, जानिए कहां और कितनी

चंडीगढ़। हरियाणा सरकार ने ग्राम पंचायतों के वित्तीय संसाधनों को बढ़ाने के लिए, केन्द्र सरकार द्वारा की गई बिजली की खपत या भारत सरकार द्वारा किसी रेलवे के निर्माण, रखरखाव या संचालन में की गई खपत या कृषि उपभोक्ताओं द्वारा की गई बिजली खपत को छोडकर, राज्य में ग्राम पंचायतों की सीमा के भीतर किसी भी उपभोक्ता द्वारा की गई खपत के लिए बिजली के बिल पर 2 प्रतिशत की दर से पंचायत कर लगाने का निर्णय लिया है।

Electricity is more expensive in Haryana, know where and how much

Chandigarh. In order to increase the financial resources of the Gram Panchayats, the Government of Haryana, excluding the consumption of electricity consumed by the Central Government or consumed by the Government of India in the construction, maintenance or operation of any railway or by the agricultural consumers, in the State It has been decided to impose Panchayat tax at the rate of 2 percent on electricity bill for consumption by any consumer within the limits of Gram Panchayats.

इस आशय का निर्णय मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में आज यहां हुई  मंत्रिमंडल की बैठक में लिया गया।

यह पंचायत कर उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम (यूएचबीवीएन) और दक्षिण हरियाणा बिजली निगम (डीएचबीवीएन) द्वारा संग्रहित किया जाएगा और इसका भुगतान उसी तरीके से किया जाएगा, जैसे कि राज्य सरकार को देय बिजली शुल्क का भुगतान किया जाता है तथा इसे संबंधित ग्राम पंचायत को जमा करवाया जाएगा।

Related posts

Leave a Comment