कोरोना वैक्सीन के नाम साइबर ठगी शुरू, जानें कैसे होती है ठगी

भोपाल। यदि आपके पास कोरोना की वैक्सीन बुक कराने के लिए किसी का फोन आए, तो उससे अपनी कोई जानकारी साझा न करें। भारत में कोरोना वैक्सीन को आने में भले ही अभी थोड़ा समय हो, लेकिन इसके नाम पर लोगों को ठगने के लिए अपराधी सक्रिय हो गए हैं। निजी जानकारियां पूछकर बैंक खातों से रपये हड़पने वाले साइबर ठगों ने अब कोरोना वैक्सीन बुक कराने के नाम पर लोगों को झांसा देना शुरू कर दिया है।

Corona vaccine names cyber fraud started, know how to cheat

Bhopal. If you get a call from someone to book a corona vaccine, do not share your information with them. While there may be some time for the Corona vaccine to arrive in India, criminals have become active in cheating people in its name. Cyber ​​thugs who grabbed money from bank accounts by asking personal information have now started tricking people in the name of booking Corona vaccine.

भोपाल पुलिस की साइबर सेल में आधा दर्जन ऐसी शिकायतें आ चुकी हैं। पुलिस ने जांच भी शुरू कर दी है।

अच्छी बात यह रही कि ठगों की बातचीत के तरीके ने लोगों के मन में शक पैदा कर दिया और उन्होंने अपने खाते की जानकारी या बैंक से मिलने वाले ओटीपी देने से मना कर दिया, इससे वे फर्जीवाड़े से बच गए।

गौरतलब है कि कोरोना वैक्सीन का फिलहाल परीक्षण जारी है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि कोरोना वैक्सीन के लिए इस तरह की कोई बुकिंग नहीं की जा रही है।

पुलिस के मुताबिक, शिकायतकर्ताओं ने बताया कि साइबर ठग फोन कर कहते हैं कि आपको डॉक्टर से पहले कोरोना वैक्सीन चाहिए तो आप बुक कर लें, इसके लिए अतिरिक्त चार्ज देना होगा।

इसके बाद वे लोगों से बैंक खाता नंबर, पैन कार्ड और आधार कार्ड की जानकारी मांगते हैं। इसके साथ ही कई लोग एटीएम कार्ड का नंबर भी मांगते हैं।

पुलिस के मुताबिक फिर वे कोरोना वैक्सीन बुक करने के लिए उनके मोबाइल नंबर पर आया वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) मांगकर खातों से रपये निकाल सकते हैं।

ठग फिलहाल इस ओटीपी को वैक्सीन बुक होने की पुष्टि होना बता रहे हैं।

गांधीनगर निवासी संदीप सिंह ने शिकायत में बताया कि उनके पास एक फोन आया। फोन करने वाले ने कोरोना वैक्सीन लगाने की बात कही और उनके खाते से संबंधित जानकारी ले ली। उन्हें बात करने के लहजे से कुछ शक हुआ, तो उन्होंने फोन काट दिया। उसके बाद भी लगातार फोन आ रहे हैं।

शाहपुरा निवासी जितेंद्र वर्मा ने शिकायत की है कि उनकी मां कोरोना संक्रमित थीं। उनके पास एक अनजान नंबर से फोन आया। उसकी भाषा भी अजीब थी। उसने कोरोना वैक्सीन लगवाने की बात कही और यह भी आश्वासन दिया कि डॉक्टर से पहले उनको वैक्सीन लग जाएगी।

फोन करने वाला खाते से संबंधित जानकारी मांगने लगा। वे समझ गए कि यह ठग है। उसका नंबर ब्लॉक कर दिया है लेकिन उसके अभी भी अलग-अलग नंबर से फोन आ रहे हैं।

Related posts

Leave a Comment