• हरियाणा: 3 आईएएस अधिकारियों के तबादले हुएRead More
  • विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल के छात्र ने किकबॉक्सिंग में जीता पदकRead More
  • ताजा खबरों के लिए पेज लाइक करेंRead More
  • एक और महिला से दुष्कर्म क्राउन इंटीरियर मॉल में Read More
  • खाना बनाने से इनकार करने पर पड़ोसी ने महिला को चाकू माराRead More

खतरनाक: स्टोन क्रेशर के 60 में 32 मजदूरों में पाया गया सिलिकोसिस रोग 

फरीदाबाद। 60 में 32 मजदूरों में पाया गया सिलिकोसिस रोग – फरीदाबाद के स्टोन क्रेशरों में काम करने वाले मजदूरों में जानलेवा सिलिकोसिस नाम की बीमारी ख़त्म नहीं हो पा रही है। हालांकि मजदूरों के लिए सुरक्षा के तमाम उपायों के दावे किये जाते हैं। यह बीमारी टीबी से भी ज्यादा खतरनाक है। एक जांच के दौरान 60 में 32 मजदूरों में सिलिकोसिस के लक्षण पाए गए हैं।

60 में 32 मजदूरों में पाया गया सिलिकोसिस रोग

फरीदाबाद के स्टोन क्रेशरों पर कार्य करने वाले मजदूरों का आज सिलिकोसिस जागरूकता एवं स्वास्थ्य जाॅच शिविर आयोजित किया गया।
– एनआईटी के सहायक निदेशक औद्योगिक स्वास्थ्य कम सर्टिफाइंग सर्जन कार्यालय में यह शिविर लगाया गया था।
– इस शिविर में करीब 60 क्रेशर मजदूरों ने हिस्सा लिया।
– सभी मजदूरों की स्वास्थ्य की जांच की गई।
– इन 60 मजदूरों में से 32 मजदूरों में सिलिकोसिस के लक्षण पाए गए।

नमूने सिलिकोसिस डायग्नेस्टिक बोर्ड को भेजे जाएंगे

– अब इन 32 रोगियों के नमूने हरियाणा सिलिकोसिस डायग्नेस्टिक बोर्ड को भेजे जाएंगे।
– बोर्ड के 5 सदस्य इन नमूनों की जांच करेंगे।
– जांच रिपोर्ट आने के बाद इन सभी का नियमित उपचार किया जायेगा।

फिल्म के माध्यम से जागरूक किया

– सभी मजदूरों को सिलिकोसिस बीमारी के बारे में एक फिल्म के माध्यम से जागरूक किया।

पुनर्वास नीति

–  सहायक निदेशक औद्योगिक स्वास्थ्य डाॅ. हरेन्द्र मान ने हरियाणा सिलिकोसिस पुनर्वास नीति के बारे में विस्तृत जारकारी दी।
– यह नीति हरियाणा सरकार ने जरवरी 2017 में लागू की थी।
– इसके तहत मजदूरों को आर्थिक सहायता दी जाती है।

 डाॅ. हरेन्द्र मान ने बताया:

– यह बीमारी सिलिका धूल से होती है।
– जिसके कण बहुत बारीक होते है।

इतनी खतरनाक होती है ये बीमारी

– जिसका बचाव हम गमछा बांधकर या डाक्टर वाला मास्क पहनकर नहीं किया जा सकता।
– उन्होंने बताया कि इसके बचाव के लिए एक स्पेशल मास्क आता है।
– जिसका नाम रेस्पीरेटर एन-95 है।

रेस्पीरेटर एन-95 मास्क जरूर पहनें

– कैम्प के माध्यम से डाॅ. मान सभी मजदूरों को यह सलाह देते है कि जहां भी सिलिका धूल होती है।
– वहां मजदूर को रेस्पीरेटर एन-95 मास्क पहन कर ही कार्य करना चाहिए।
– ताकि इस भयंकर बीमारी से बचा जा सके।

You may also like

विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल के छात्र ने किकबॉक्सिंग में जीता पदक

विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल के छात्र ने किकबॉक्सिंग में जीता पदक

फरीदाबाद। विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल के छात्र ने किकबॉक्सिंग में जीता […]

read more
ताजा खबरों के लिए पेज लाइक करें

ताजा खबरों के लिए पेज लाइक करें

ताजा खबरों के लिए पेज लाइक करें LIKE PAGE TO UPDATE […]

read more
एक और महिला से दुष्कर्म क्राउन इंटीरियर मॉल में 

एक और महिला से दुष्कर्म क्राउन इंटीरियर मॉल में 

फरीदाबाद। एक और महिला से दुष्कर्म क्राउन इंटीरियर मॉल में – […]

read more

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *