• कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर की पत्नी को बुरी तरह धमकाया Read More
  • फरीदाबाद में नाबालिग से रेप की 7वीं वारदात Read More
  • पुलिस देख अवैध गर्भपात करने वाले डाक्टर भाग खड़े हुए Read More
  • नाराज भाजपा कार्यकर्ताओं ने खोला अपना अलग दफ्तर Read More
  • ‘नगेन्द्र भडाना और यशवीर डागर जनता को बेवकूफ बना रहे’Read More

मोदी के साथ इजरायली पीएम योग भी करने को तैयार 

नई दिल्ली। मोदी के साथ इजरायली पीएम योग भी करने को तैयार – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू के बीच गहरी दोस्ती की झलक देखने को मिली। दोनों नेताओं ने अपने साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कई बार एकदूसरे से हाथ मिलाया और गले मिले।

मोदी के साथ इजरायली पीएम योग भी करने को तैयार

पीएम नेतन्याहू ने कहा कि वह अपने ‘मित्र नरेंद्र’ के साथ किसी योग सत्र में शामिल होने के लिए तैयार हैं। नेतन्याहू ने दोनों नेताओं के बीच गहरे सौहार्द को दिखाते हुए कहा, ‘‘मेरे मित्र नरेंद्र … जब भी आप मेरे साथ योग सत्र में शामिल होना चाहें… इसमें काफी मेहनत लगती है लेकिन मैं वहां रहूंगा। मेरा विश्वास करिये।’’
भारत यात्रा पर आए इस्राइली प्रधानमंत्री नेतन्याहू ने प्रधानमंत्री मोदी को एक क्रांतिकारी नेता बताया और उनके लिए ‘मेरे मित्र नरेंद्र’ जैसे शब्द का इस्तेमाल किया। वहीं पीएम मोदी ने भी गर्मजोशी से जवाब देते हुए मेहमान का स्वागत हिब्रू भाषा में किया।
दोनों नेताओं के बीच का तालमेल जगजाहिर है। बीते साल जब पीएम मोदी ने इजरायल की यात्रा की थी तब वह ऐसा करने वाले पहले प्रधानमंत्री बने थे। उनका स्वागत नेतन्याहू ने हवाई अड्डा पहुंचकर किया था। ऐसा विशिष्ट अतिथि के लिए ही किया जाता है, जैसे अमेरिकी राष्ट्रपति।
साझा प्रेस कॉन्फ्रेस में प्रधानमंत्री नेतन्याहू ने पीएम मोदी की प्रशंसा करते हुए कहा, ‘‘आप एक क्रांतिकारी नेता हैं और आप भारत में क्रांति ला रहे हैं। आप इस शानदार देश को भविष्य की ओर ले जा रहे हैं। आप इजरायल और भारत के संबंधों में क्रांतिकारी परिवर्तन लाये हैं।’’
पीएम मोदी ने भी इसका जवाब गर्मजोशी से देते हुए नेतन्याहू की यात्रा को भारत और इजरायल के बीच मित्रता में लंबे समय से प्रत्याशित पल बताया। उन्होंने यह भी कहा कि यह यात्रा ऐसे समय हो रही है जब दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय राजनयिक संबंधों के 25 साल पूरे हुए हैं। इसके साथ ही यह यात्रा नये साल की विशेष शुरूआत के रूप में आयी है और ऐसे समय हो रही है जब भारत के लोग नया साल, वसंत, नयी फसल और उम्मीद का जश्न मना रहे हैं। पीएम मोदी, प्रधानमंत्री नेतन्याहू के साथ 17 जनवरी को अपने गृह राज्य गुजरात भी जाएंगे।

बिजनेस और इंडस्ट्री का रोल अहम: मोदी

नरेंद्र मोदी ने कहा, “दोनों देशों के CEO के साथ होना एक अलग खुशी का मौका है। पीएम नेतन्याहू और मैंने दोनों देशों के CEOs के साथ फायदेमंद बातचीत की है। बिजनेस और इंडस्ट्री का किरदार हमारे वक्त में बदलाव के लिए अहम है। भारत में हम लोग तीन साल से ज्यादा वक्त से बड़े और छोटे दोनों ही स्तर पर बदलाव लाने के लिए मजबूत कदम उठाए हैं। हमारा मकसद रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म है।”
मेरे अच्छे दोस्त का भारत में स्वागतमोदी
ज्वाइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस में नरेंद्र मोदी ने कहा, “मेरे अच्छे दोस्त का भारत में स्वागत है। आपके (नेतन्याहू) दौरे से दोनों देशों के बीच रिश्तों का नया अध्याय शुरू होगा।”
“भारत और इजरायल के बीच डेलिगेशन लेवल टॉक हुई। इस दौरान साइबर को-ऑपरेशन, साइंस एंड टेक्नोलॉजी, फिल्म को-ऑपरेशन, होम्योपैथी और अल्टरनेटिव मेडिसिन समेत कुल 9 एमओयू साइन हुए।”
“आज और कल हम दोनों देशों के रिश्तों को आगे बढ़ाने पर बात करेंगे और उन्हें नया आयाम देने से अवसरों का नया रास्ता खुलेगा। हमने अपने पुराने फैसलों को भी बेहतर तरीके से लागू किया। जमीनी स्तर पर इसके परिणाम देखने को मिल रहे हैं।”
”पिछले साल जुलाई में इजरायल के अपने दौरे पर सवा करोड़ भारतीयों की शुभकामनाएं लेकर गया था। वहां से मेरे दोस्त बीबी (नेतन्याहू) और इजरायल के लोगों का प्यार और आशीर्वाद लेकर लौटा।”
”हम लोगों की जिंदगी से जुड़े मजबूत स्तंभों एग्रीकल्चर, साइंस एंड टेक्नोलॉजी और सिक्युरिटी में को-ऑपरेशन को बढ़ावा देंगे। डिफेंस को ध्यान में रखते हुए हमने इजरायली कंपनी को भारत आने का इनविटेशन दिया। उनसे कहा कि FDI में दी गई छूट का फायदा उठाएं और भारतीय कंपनियों के साथ काम करें।”

मोदी ने भारत में क्रांति लाने काम किया: नेतन्याहू

नेतन्याहू ने कहा, “आप क्रांतिकारी नेता हैं। आपने भारत में क्रांति लाने का काम किया है और इस देश का भविष्य को तय किया है। आपकी इजरायल विजिट अभूतपूर्व थी, ये किसी भारतीय लीडर की पहली इजरायल विजिट थी। पीएम मोदी आपका शुक्रिया।”
“भारत में रहने वाले यहूदियों को उस तरह की विरोधी भावनाओं का सामना कभी नहीं करना पड़ा, जैसा कि दूसरे देशों में करना पड़ता है। भारत की सभ्यता, उदारता और लोकतंत्र को सलाम है।”
“पीएम मोदी की इजरायल विजिट ने सभी इजरायलियों को उत्साहित किया था। उन इजरायलियों को भी उत्साहित किया था, जो भारतीय मूल के थे। मुझे ये एक रॉक कन्सर्ट जैसा लगा, लेकिन ये एक ऐतिहासिक घटना भी थी।”
“भारत में रहने वाले यहूदियों को उस तरह की विरोधी भावनाओं का सामना कभी नहीं करना पड़ा, जैसा कि दूसरे देशों में करना पड़ता है। भारत की सभ्यता, उदारता और लोकतंत्र को सलाम है।”
“पीएम मोदी की इजरायल विजिट ने सभी इजरायलियों को उत्साहित किया था। उन इजरायलियों को भी उत्साहित किया था, जो भारतीय मूल के थे। मुझे ये एक रॉक कन्सर्ट जैसा लगा, लेकिन ये एक ऐतिहासिक घटना भी थी।”
“हमें मुंबई की भयावह क्रूरता (26/11 अटैक) याद है, हम कभी भी पीछे नहीं हटेंगे और हम लड़ाई लड़ेंगे। मेरे भाई नरेंद्र अगर आप कभी भी मेरे साथ योगा क्लास करना चाहते हैं तो आपका स्वागत है।”

इन वजहों से खास है नेतन्याहू का भारत दौरा

15 साल बाद भारत आने वाले पहले पीएम

यह 15 साल में किसी इजरायली पीएम का दौरा है। इससे पहले 2003 में पीएम एरियल शेरॉन भारत आए थे।
नेतन्याहू का यह दौरा भारत-इजरायल की दोस्ती के लिहाज से अहम है, क्योंकि यूएन में भारत ने येरूशलम को राजधानी घोषित करने के खिलाफ वोट किया था।

3181 करोड़ रु. की एंटी मिसाइल डील हो सकती है

कुछ दिन पहले भारत ने इजरायल के साथ 3181 करोड़ रु। की एंटी टैंक स्पाइक मिसाइल डील और रॉफेल वेपन्स डील निरस्त कर दी थी।
हालांकि, अब कहा जा रहा है कि नेतन्याहू मोदी के साथ इस डील को दोबारा कन्फर्म कर सकते हैं। इसके तहत इजरायल भारत को 8000 एंटी टैंक स्पाइक मिसाइल देगा।
इस दौरे पर भारत, इजरायल के बीच 445 करोड़ रु। के जमीन से हवा में मार करने वाली 131 मिसाइलों समेत अन्य समझौते होंगे।

3. भारत को पाक सीमा पर चौकसी के लिए स्मार्ट बाड़ देगा

भारत ने पठानकोट हमले के बाद पाकिस्तान सीमा पर स्मार्ट बाड़ लगाने का फैसला किया था। इस स्मार्ट बाड़ की टेक्नोलॉजी इजरायल भारत को दे रहा है।
स्मार्ट बाड़ इजरायल ने अरब देशों के साथ लगती अपनी 200 किमी की सीमा पर लगा रखी है। वह हवा में खतरे की वॉर्निंग एंड कंट्रोल करने वाला सिस्टम अवाक्स दे रहा है।

4. भारत-इजरायल रिश्तों के 25 साल

2017 में भारत-इजरायल की दोस्ती को 25 साल पूरे हो गए। दोनों देशों ने इसे सेलिब्रेट किया। पीएम मोदी इजरायल गए। वे इजरायल जाने वाले पहले पीएम थे।
नेतन्याहू का यह दौरा भी इस दोस्ती को केंद्र में रखकर हो रहा है। यह दोस्ती 1999 में परवान चढ़ी, जब कारगिल जंग के दौरान इजरायल ने भारत को सिर्फ एक बार कहने पर लेजर गाइडेड बम और मानवरहित प्लेन मुहैया कराया था। बड़ी मात्रा में गोला-बारूद भी दिया।

5. भारत हर साल इजरायल से 6400 करोड़ के हथियार लेता है

दोनों देशों के रक्षा, कृषि, साइबर सिक्युरिटी, मेडिसिन, सिनेमा, जल, रक्षा, फूड इंडस्ट्री, साइंस एंड टेक्नोलॉजी, व्यापार आदि क्षेत्रों में नए समझौते हो सकते हैं।
भारत और इजरायल के बीच हर साल करीब 25,452 करोड़ रु। का कारोबार होता है। भारत हर साल करीब 6400 करोड़ रु। के हथियार इजरायल से खरीदता है।

शादियां तो स्वर्ग में तय होती हैं: नेतन्याहू

मोदी के साथ मीटिंग से पहले नेतन्याहू ने कहा कि दोनों के मजबूत रिश्तों की शुरुआत मोदी के ऐतिहासिक इजरायल दौरे से हुई थी। उस यात्रा ने जोश भर दिया। ये मेरी विजिट तक जारी है। मैं, मेरी पत्नी और इजरायल के लोगों की तरफ से शुक्रिया अदा करता हूं। दोनों देशों के बीच पार्टनरशिप से लोगों की तरक्की और शांति आएगी।

“भारत और इजरायल के बीच दोस्ती का ये रिश्ता नए युग की शुरुआत है।”

नेतन्याहू ने कहा कि हम भारत के यूएन में हमारे खिलाफ दिए गए वोट से नाखुश हैं, लेकिन एक वोट से ही हमारे रिश्ते तय नहीं होते। बता दें कि अमेरिका ने येरूशलम को इजरायल की राजधानी घोषित किया था। यूएन में भारत समेत 127 देशों ने इसका विरोध किया था।
“देखने वाली बात ये है कि दोनों देशों, दोनों देशों के लोगों और नेताओं के बीच रिश्ते हैं। भारत-इजरायल की पार्टनरशिप को आप कह सकते हैं कि शादियां तो स्वर्ग में तय होती हैं, लेकिन रिश्ते पर मुहर धरती पर लगती है। मोदी एक महान नेता हैं। वे अपने लोगों का भविष्य सुधारने के लिए बहुत उतावले हैं।”

You may also like

जनरल रावत के बयान पर चीन फिर डकराया

जनरल रावत के बयान पर चीन फिर डकराया

नई दिल्ली। जनरल रावत के बयान पर चीन फिर डकराया […]

read more
आतंकियों ने अफगानिस्तान में भारतीय दूतावास पर रॉकेट अटैक किया

आतंकियों ने अफगानिस्तान में भारतीय दूतावास पर रॉकेट अटैक किया

काबुल। आतंकियों ने अफगानिस्तान में भारतीय दूतावास पर रॉकेट अटैक […]

read more
पिछले ‘नीच’ ने गुजरात हरवाया नया ‘नीच’ क्या गुल खिलायेगा?

पिछले ‘नीच’ ने गुजरात हरवाया नया ‘नीच’ क्या गुल खिलायेगा?

नई दिल्ली। पिछले ‘नीच’ ने गुजरात हरवाया, नया ‘नीच’ क्या […]

read more

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *