• गुजरात चुनाव: चर्च बोला राष्ट्रवादी ताकतों को हराओRead More
  • प्रोसैस के साथ उत्पाद की डिजाईनिंग पर भी ध्यान देंRead More
  • ‘पद्मावती’ विवाद से दुखी युवती ने कर ली खुदकशीRead More
  • कार्यकर्ता मंडल स्तर पर कार्यक्रमों को मजबूत करें: जोशीRead More
  • पद्मावती विवाद खूनी हुआ? किले पर शव लटकायाRead More

हरियाणा: इस कदम से बदल जायेगी सिंचाई परियोजनाओं की सूरत 

चंडीगढ़। हरियाणा: इस कदम से बदल जायेगी सिंचाई परियोजनाओं की सूरत – हरियाणा सरकार ने प्रदेश में सिंचाई उद्देश्य के लिए एक लाख नए सोलर वाटर पम्प स्थापित करने का लक्ष्य रखा है। इस कड़ी में अगले वर्ष के दौरान 25 हजार नए सोलर वाटर पम्प स्थापित किए जाएंगें।

हरियाणा: इस कदम से बदल जायेगी सिंचाई परियोजनाओं की सूरत

यह निर्णय आज यहां हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की अध्यक्षता में आयोजित नवी एवं नवीनीकरण ऊर्जा विभाग की बैठक में लिया गया। उन्होंने 110 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों और इतने ही प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों के भवनों पर रूफटोप सोलर पावर प्लांट को स्थापित करने की अपनी स्वीकृति भी प्रदान कर दी है।
मुख्यमंत्री ने विभाग को निर्देश दिए कि वे ग्रीन एनर्जी का ज्यादा से ज्यादा प्रयोग को सुनिश्चित करें। उन्होंने विभाग को निर्देश दिए कि वे डार्क जोन को छोडक़र ऐसे खंडों को चिन्हित करें। चरणबद्घ तरीके से सोलर वाटर पम्प को स्थापित करें। उन्होंने विभाग को निर्देश दिए कि वे शुरूआत में 25 हजार सोलर वाटर पम्पों को स्थापित करें और उसके बाद धीरे-धीरे इस संख्या को एक लाख तक ले जाएं।
विभाग ने केन्द्रीय नवीन एवं नवीनीकरण ऊर्जा मंत्रालय को आग्रह किया है कि वर्ष 2017-18 के लिए प्रदेश को 20 हजार सोलर पम्पों का आबंटन करें। वर्ष 2016-17 के पहले चरण में दो हार्सपावर सरफेस और सब्मर्सीबल तथा 5 एचपी सब्मर्सीबल के लगभग 750 सोलर वाटर पम्पों को जिला झज्जर के सालाहवास खंड में और अन्य जिलों में अन्य 23 भूमिगत पानी की दृष्टिï से सुरक्षित खंडों में स्थापित किया गया। प्रथम चरण में के लिए संबंधित जिलों द्वारा 750 पम्पों का वर्क आर्डर पहले ही जारी किया जा चुका है और ये पम्प प्राप्त हो चुके हैं जिनमें से 700 पम्प स्थापित व संचालित हो चुके है जबकि शेष पम्पों को स्थापित किया जा रहा है। दूसरे चरण के दौरान, जो वर्ष 2017-18 में क्रियान्वित किया जाएगा, में 2एचपी से 10एचपी क्षमता वाले 2300 पम्पों को स्थापित किया जाएगा और जिनकी ई-निविदा पहले ही आमंत्रित की जा चुकी है।
मनोहर लाल ने बिजली विभाग को निर्देश दिए कि वे नेट-मीटर्स की उपलब्धता को सुनिश्चित करें और सोलर रूफटोप कार्यक्रम के अंतर्गत एक सप्ताह के भीतर नेट-कनसपशन साफटवेयर के माध्यम से बिलिंग करें। हाल ही में केन्द्रीय नवी एवं नवीनीकरण मंत्रालय की एक समीक्षा बैठक के दौरान हरियाणा को सोलर रूफटोप कार्यक्रम में अग्रणी राज्यों में बताया गया। उन्होंनने कहा कि वे शीघ्र ही प्रदेश में 500 मेगावाट क्षमता के एक सोलर पार्क को स्थापित करने के लिए संबंधित विभागों की एक बैठक को बुलाने वाले हैं। यह सोलर पार्क सन-हरियाणा द्वारा विकसित किया जाएगा, जो हरियाणा राज्य औद्योगिक एवं अवसंरचना विकास निगम और हरियाणा विद्युत संप्रेषण निगम लि. का संयुक्त उद्यम हैं।
बैठक में बताया गया कि रूफटोप सोलर प्लांट स्थापित करने के लिए प्रदेश के सभी राजकीय भवनों का सर्वें किया जा चुका है ताकि उनकी दैनिक बिजली की जरूरत को पूरा किया जा सकें। विभाग ने लाभार्थियों को सोलर शौचालय लैम्प मुहैया करवाने के लिए एक योजना तैयार की है और यह लैम्प कुल लागत के 10 प्रतिशत के न्यूनतम मूल्य पर मुहैया करवाया जाएगा तथा शेष 90 प्रतिशत की सब्सिडी या फंड सीएसआर के तहत स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत विभिन्न संस्थाओं द्वारा निर्मित शौचालयों में बिजली की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए उपलब्ध करवाया जाएगा। शुरूआत में 22 हजार सोलर शौचालय लैम्प मुहैया करवाने का प्रस्ताव है जिनमें से एक हजार लैम्प प्रत्येक जिला में पायलट आधार पर मुहैया करवाया जाएगा। बैठक में बताया गया कि ग्रामीण क्षेत्रों में पानी की आपूर्ति हेतु जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के पम्पों को बिजली मुहैया करवाने के लिए एक 12.5 एचपी क्षमता का सोलर पम्प भी स्थापित किया गया है।
बैठक में हरियाणा में नवी एवं नवीनीकरण ऊर्जा मंत्री डा. बनवारी लाल, मुख्य सचिव श्री डी एस ढेसी, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव डा. राकेश गुप्ता, स्कूल शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डा. के. के. खंडेलवाल, लोक निर्माण (भवन एवं सडकें) विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री आलोक निगम, शहरी स्थानीय निकाय विभाग के प्रधान सचिव श्री आनंद मोहन शरण, उद्योग विभाग के प्रधान सचिव श्री सुधीर राजपाल, स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव श्री अमित झा, नवी एवं नवीनीकरण ऊर्जा विभाग के प्रधान सचिव श्री अंकुर गुप्ता, ग्राम एवं आयोजना विभाग के प्रधान सचिव श्री अरूण गुप्ता, नवी एवं नवीनीकरण विभाग की महानिदेशक श्रीमती नीरजा शेखर सहित अन्य वरिष्ठï अधिकारी उपस्थित थे।

You may also like

‘पद्मावती’ विवाद से दुखी युवती ने कर ली खुदकशी

‘पद्मावती’ विवाद से दुखी युवती ने कर ली खुदकशी

अंबाला। ‘पद्मावती’ विवाद से दुखी युवती ने कर ली खुदकशी – […]

read more
रेयन मर्डरः हेल्पर अशोक को थर्ड डिग्री देने वाले  पुलिसकर्मियों पर गाज गिरेगी

रेयन मर्डरः हेल्पर अशोक को थर्ड डिग्री देने वाले पुलिसकर्मियों पर गाज गिरेगी

गुरुग्राम। रेयन मर्डरः अशोक को थर्डडिग्री में पुलिसकर्मियों पर गाज […]

read more
खरखौदा ईसीएचएस पोलिक्लीनिक के लिए जमीन आवंटित

खरखौदा ईसीएचएस पोलिक्लीनिक के लिए जमीन आवंटित

चण्डीगढ़। खरखौदा ईसीएचएस पोलिक्लीनिक के लिए जमीन आवंटित – हरियाणा […]

read more

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *